WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

लोहरदगा

दस करोड लोगों की आस्था एवं भक्ति केंद्र है अग्रोहा
सौ करोड़ की लागत से होगा कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी मंदिर निर्माण
108 किलो चांदी की होगी आद्य महालक्ष्मी जी की प्रतिमा, 108 किलो चांदी के सिंहासन पर महालक्ष्मी जी विराजमान होगीअनिता अग्रवाल
लोहरदगा : अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन द्वारा अग्रवंश की कुलदेवी माता आद्य महालक्ष्मी जी का ऐतिहासिक भव्य मंदिर का निर्माण अग्रोहा शक्तिपीठ हिसार हरियाणा में किया जाएगा, जिसका शिलान्यास 24 अप्रैल 2021 को होगा अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन के झारखंड के पूर्व प्रांतीय प्रवक्ता सह अग्रसत्ता के प्रदेश संपादक संजय सर्राफ ने बताया कि अग्रोहा शक्तिपीठ पर बनने वाला कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी जी मंदिर देश के 10 करोड़ अग्रवाल परिवारों की आस्था श्रद्धा एवं भक्ति का केंद्र बनेगा, जहां कुलदेवी आद्य महालक्ष्मी जी का मंदिर श्रीयंत्र के आकार का होगा, जिसे विश्व विख्यात आर्किटेक्ट मंदिर निर्माण के वास्तु शिल्पीकार सीबी सोनपुरा के निर्देशन में प्रारूप तैयार किया गया है, सोमपुरा द्वारा अयोध्या में राम जन्मभूमि पर बनाए जाने वाले राम मंदिर का निर्माण कार्य कराया जा रहा है, साथ ही उनके द्वारा लंदन में लक्ष्मी नारायण मंदिर, दिल्ली व गांधीनगर गुजरात में अक्षरधाम मंदिर, सोमनाथ मंदिर सहित कई अन्य मंदिर निर्माण में योगदान उन्होंने दिया है, मंदिर निर्माण में 108 किलो चांदी की आद्य महालक्ष्मी जी की प्रतिमा, 108 किलो चांदी के सिंहासन पर महालक्ष्मी जी विराजमान होगी, मंदिर 108 फुट लंबा 108 फुट चौड़ा 108 फुट ऊंचा होगा। मंदिर निर्माण पर अनुमानित सौ करोड़ रुपए की लागत आएगी, व आद्य महालक्ष्मी मंदिर में अष्ट लक्ष्मी जी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी, पित्र भूमि अग्रोहा शक्ति पीठ को धार्मिक ऐतिहासिक पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है, अखिल भारतीय अग्रवाल सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल शरण गर्ग ने कहा कि भगवान श्री अग्रसेन जी के मुख्य सिद्धांत एक-रुपया एक ईटं की रीति की प्रेरणा से आद्य लक्ष्मी जी समर्पण अभियान में हुंडी के रूप में जन-जन से अग्रवाल समाज के प्रत्येक परिवार को इससे जोड़ा जाएगा, निर्माण में सभी अग्र बंधुओं की भागीदारी को ध्यान में रखकर प्रत्येक जिला नगर कस्बे में आशीर्वाद यात्रा जाएगी, उन्होंने इस पुण्य कार्य हेतु सभी से अपील करते हुए कहा है कि मंदिर निर्माण में समाज के बड़े-बड़े उद्योगपति, भामाशाह के रूप में आगे आकर अपना बढ़-चढ़कर योगदान देवें, यह ऐतिहासिक मंदिर आने वाली पीढ़ी के लिए आप सभी भामाशाओं के द्वारा दी गई एक-एक ईटं का साक्षी रहेगा, आपके द्वारा दी गई एक एक ईटं नीवं का पत्थर साबित होगी, सभी आशीर्वाद यात्रा के अपने अपने क्षेत्र में आगमन पर भव्य स्वागत कर मंदिर निर्माण में तन मन धन से सहयोग कर पुण्य के भागीदार बने, 28 फरवरी को यात्रा अवसर पर झुंझुनू में राष्ट्रीय/प्रदेश व जिले के पदाधिकारियों अग्र बंधु शामिल होंगे।

 43 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply