जनसंपर्क विभाग द्वारा सरकारी योजनाओं के संबंध में ग्रामीणों को किया जा रहा है जागरूक

जनसंपर्क विभाग द्वारा सरकारी योजनाओं के संबंध में ग्रामीणों को किया जा रहा है जागरूक
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

लोहरदगा

कला दलों के कलाकारों ने नुक्कड़ नाटक के माध्यम से आम लोगों को दी जानकारी

जिला जनसम्पर्क कार्यालय, लोहरदगा की ओर से विभिन्न कला दलों द्वारा प्रतिदिन अलग-अलग ग्राम में जा कर आमजनों को सरकार की योजनाओं के संबंध में जागरूक किया जा रहा है।
इसी क्रम में आज जिले के विभिन्न पंचायतों में सरकार के योजनाओं की जानकारी नुक्कड़-नाटक के माध्यम से दी गई। कलाकारों द्वारा विवाह निबंधन, डायन कुप्रथा, अनुसूचित जाति एवं जनजाति अत्याचार अधिनियम, पेंशन योजना (वृद्धा/विधवा/विकलांग), तंबाकू एवं उसके उत्पाद के सेवन के दुष्प्रभाव व ग्यारह तरह के प्रतिबंधित पान-मसाले (रजनीगंधा, राजनिवास, पानपराग, शिखर, दिलरुबा, मुसाफिर, मधु पानमसाला, विमल पानमसाला, बहार पानमसाला, सेहरत पानमसाला और पान पराग प्रीमियम पानमसाला), श्रमिकों का निबंधन, वनाधिकार अधिनियम, किसान क्रेडिट कार्ड, झारखंड कृषि ऋण माफी योजना आदि से संबंधित प्रचार-प्रसार किया गया।
स्थानीय भाषा में प्रचार-प्रसार
आज समग्र आदिवासी विकास केंद्र दल के कलाकारों द्वारा दल राजेश भगत के नेतृत्व में लोहरदगा प्रखण्ड के भटखिजरी पंचायत के बकरनी ग्राम में जन-जागरुकता कार्यक्रम किया।
जनकल्याण मंच के दल नायक रेणु कुमारी के नेतृत्व में कुडू प्रखण्ड के लावागाईं पंचायत के जागी ग्राम में कलाकारों ने जन-जागरुकता कार्यक्रम किया गया।
लोकसांस्कृतिक कला मंच के कलाकारों ने दल नायिका सुभद्रा पन्ना के नेतृत्व में सेन्हा प्रखण्ड के बूटी पंचायत के जमीरा ग्राम जन जागरूकता कार्यक्रम किया। कलाकारों ने स्थानीय भाषा में ग्रामीणों को उपरोक्त योजनाओं की जानकारी दी।
कलाकारों ने नुक्कड़-नाटक के माध्यम से लोगों को बताया कि झारखण्ड सरकार ने किसानों के ऋण माफी योजना प्रारंभ की है। इस योजना का लाभ मात्र एक रूपये चुका कर उठाया जा सकता है और सरकार 50 हजार रूपये तक का ऋण माफ कर देगी। जिन किसानों का केसीसी ऋण दिनांक 31.03.2020 तक स्टैण्डर्ड कैटेगरी में है और एनपीए नहीं हुआ है, वे इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
कलाकारों ने नुक्कड-नाटक के माध्यम से स्थानीय भाषा में बताया कि जो भी बच्चे जन्म ले रहे हैं, उनका जन्म का निबंधन अवश्य करायें। जन्म प्रमाण पत्र भी प्राप्त कर लें। अगर अस्पताल में बच्चे का जन्म हुआ तो अस्पताल से जन्म प्रमाण पत्र मिलेगा। अगर घर में बच्चे का जन्म हुआ हो तो नगर पालिका क्षेत्र का नगर पर्षद कार्यालय से तथा ग्राम का पंचायत सचिवालय या प्रज्ञा केंद्र से जन्म प्रमाण पत्र बनवाएं। विद्यालय में नामांकन के लिए यह प्रमाण-पत्र आवश्यक है। साथ ही, जिन किन्हीं की मृत्यु अगर होती है तो उनका भी निबंधन कराना है और प्रमाण पत्र प्राप्त करना है। अगर कोई विवाहित हैं तो वे भी अपने विवाह का निबंधन करायें।

 29 total views,  3 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply