टूल किट मामले में देश के कई ‘बड़े लोग’ पुलिस के रडार पर

टूल किट मामले में देश के कई ‘बड़े लोग’ पुलिस के रडार पर
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

नई दिल्ली

खतरनाक मंसूबा
-कॉल डिटेल्स व व्हाट्सएप मैसेज कब्जे में, जल्द बड़ी गिरफ्तारियां संभव
-किसान आंदोलन को हाईजैक करने की देश विरोधी ताकतो की साजिश
-कई देश दे रहे भारत में अस्थिरता फैलाने के लिए फंड व तकनीकी सपोर्ट

टूल किट मामले में देश के कई राज्यों के कई ‘बड़े लोग’ दिल्ली पुलिस के रडार पर हैं। यह वे लोग हैं जो किसी न किसी माध्यम से दिशा रवि और उनकी पूरी टीम के लोगों से संपर्क में थे। दिल्ली पुलिस ने ऐसे लोगों के मोबाइल से हुई बातचीत और कॉल डिटेल्स के साथ साथ उनके व्हाट्सएप मैसेजे समेत कम्युनिकेशन के सभी माध्यमों को अपने कब्जे में ले लिया है। पुलिस सूत्रों ने बताया है कि जल्द ही इस मामले में और बड़ी गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं।
इस मामले की जांच करने वाली टीम के एक अधिकारी ने बताया कि यह मामला उतना सामान्य नहीं है, जितना शुरुआती दौर में दिख रहा था। वह कहते हैं जब इस मामले की तह में पहुंचे तो पता चला कि देश विरोधी ताकतें जबरदस्त तरीके से किसान आंदोलन को हाईजैक करने की कोशिश में लगी हुई हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक इस मामले में उन्हें कई ऐसे और अहम सुराग हाथ लगे हैं, जिससे यह पता चलता हैं कि सिर्फ दिशा रवि ही नहीं बल्कि और ‘बड़े लोग’ इस पूरे मामले में शामिल हैं। उक्त अधिकारी ने बताया जिस तरीके से एक जूम मीटिंग की गई और फिर उसके बाद जो मैसेज आगे बढ़ाया गया वह ज्यादा खतरनाक है।
इस पूरे मामले की जांच कर रही पुलिस टीम के सूत्रों की मानें तो इसमें न सिर्फ महाराष्ट्र बल्कि पंजाब और दिल्ली के भी कई लोग शामिल हैं, जो आंदोलन के बहाने देश में अस्थिरता लाने की फिराक में थे। जिस तरीके से खालिस्तान और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का भी नाम इसके सामने आ रहा है, उससे इस पूरे मामले की गंभीरता बहुत ज्यादा हो गई है।
पुलिस जांच टीम के अधिकारियों के मुताबिक किसान आंदोलन के बहाने देश को अस्थिर करने के मंसूबे पाले हुए बहुत से लोग देश और दुनिया के अलग-अलग इलाकों में बैठे हुए हैं। पुलिस की अपनी तस्दीक में सामने आया है कि कनाडा से लेकर ब्रिटेन तक से देश में अस्थिरता पैदा करने के लिए कुछ संगठन फंड और तकनीकी सपोर्ट भी मुहैया करा रहे हैं। ऐसे लोगों को निशाने पर लिया गया है।
पुलिस सूत्रों की मानें तो इस मामले में उनकी टीम अभी भी अलग-अलग राज्यों में पड़ताल कर रही है। इसके अलावा विदेश में हुए कम्युनिकेशन को भी चेक किया जा रहा है। साइबर सेल और स्पेशल सेल की टीम के सूत्रों के मुताबिक पंजाब और दिल्ली में तकरीबन 500 से ज्यादा लोगों के फोन ट्रैकिंग पर लिए गए हैं। सूत्रों का कहना है इन लोगों के कम्युनिकेशन के जो दूसरे माध्यमों से लोगों को ट्रैक किया जा रहा है। पुलिस अधिकारियों का मानना है जल्द से जल्द इस मामले में और बड़ी सफलताएं हासिल करेगी।

 56 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply