युवा उत्साह और अदम्य इच्छा शक्ति ही सूत्र है

युवा उत्साह और अदम्य इच्छा शक्ति ही सूत्र है
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
Untitled-1
WhatsApp Image 2021-03-05 at 1.52.50 PM

बिहार

बिहार सरकार ने हाल ही में अपने मंत्रीमंडल का विस्तार किया और कई महत्वपूर्ण मंत्रालय, सक्षम और सशक्त नेतृत्व वाले नेताओं को दिए गए| इसी के तहत राज्य के विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग का उत्तरदायित्व श्री सुमित कुमार सिंह को दिया गया| जद(यू) संधान के अंग्रेज़ी संस्करण के संपादक डॉ० कुमार विमलेन्दु सिंह से माननीय मंत्री, श्री सुमित कुमार सिंह ने विभाग से जुड़ी चुनौतियों और समाधानों पर विस्तृत और सार्थक चर्चा की| उसी साक्षात्कार के मुख्य अंश प्रस्तुत हैं|

डॉ०कु वि : आपको नए कार्यभार के लिए बधाई| आपके लिए कितना कठिन या आसान होगा इस महत्वपूर्ण विभाग का कार्यभार संभालना?

सु कु : सबसे पहले आपको धन्यवाद| देखिए कोई भी ज़िम्मेदारी निभाने के लिए सबसे आवश्यक है एक साफ़ विज़न और उसके हिसाब से योजना का होना| अभी पिछले कुछ वर्षों में उक्त विभाग के तहत सरकार ने बहुत सुन्दर योजनाएं बनाई हैं और उनका पूर्ण क्रियान्वन भी किया है, जिसके परिणामस्वरूप बहुत से नए पॉलिटेक्निक खोले कई नए प्राध्यापकों की नियुक्ति, राज्य के लोक सेवा आयोग के सहयोग से की और अभी सब जगह सुचारू रूप से चीज़ें चल रही हैं| ऐसे में एक सटीक रूपरेखा तैयार है और उसमें कुछ और प्रयास कर के उसे और बेहतर बनाना निश्चित ही सुगम होगा|

डॉ०कु वि : आपके द्वारा किए जाने वाले नए प्रयास क्या होंगे?

सु कु : सबसे पहले तो उन भवनों की देख रेख, उनके रख रखाव का ध्यान रखना आवश्यक , जिनमें कक्षाएं चल रही हैं और उन गतिविधियों का भी सटीक और सिलसिलेवार विवरण तैयार रखना होगा जो विभाग से संबद्ध संस्थानों के होंगे| सारे क्रियाकलाप सुचारू रूप से चलते रहें इसके लिए नियमित अंतराल पर निरीक्षण भी किए जाते रहेंगे|

डॉ०कु वि : ये बहुत सार्थक प्रयास होंगे लेकिन छात्रों के लिए जो आपके विभाग से संबद्ध संस्थानों में पढ़ रहे हैं, उनके लिए आपकी क्या योजनाएं हैं?

सु कु : मेरे विचार से छात्रों के लिए एक प्लेसमेंट सेल होना चाहिए जो उनके लिए सहायक हो और हमें रिक्त सीटों के विषय में भी सोचना होगा| मेरा प्रयास रहेगा कि NIT, पटना के साथ जुड़कर, छात्रों के प्लेसमेंट के लिए प्रयास किया जाए| एक नोडल सेंटर बना कर कंपनियों के लिए कई उम्मीदवारों का एक साथ साक्षात्कार करने की प्रक्रिया अमल में लाई जाए| इससे सभी छात्रों को अवसर प्राप्त होंगे|

डॉ०कु वि : बहुत ही सराहनीय पहल होगी ये, युवाओं के लिए आपका क्या संदेश है? ये आपसे जानना और भी ज़रूरी है क्योंकि आप भी इस राज्य के यूथ आइकॉन जैसी ही शख़्सियत रखते हैं|

सु कु : युवाओं की सबसे मूल्यवान संपत्ति उनकी ऊर्जा और उनका उत्साह होता है और जब इस उत्साह को दृढ़ इच्छा शक्ति से जोड़ दिया जाए तो किसी भी व्यक्ति, समाज और देश के उत्थान का मार्ग प्रशस्त होता है| मेरा यही संदेश है कि उत्साह और इच्छा शक्ति को ही सूत्र मान कर युवा आगे बढ़ें|

डॉ०कु वि : आपकी बातों से एक नई आशा जग रही है कि बिहार पुनः अपने गौरवशाली स्थिति को प्राप्त करने में सफल होगा| बहुत धन्यवाद और शुभकामनाएं|

सु कु : माननीय मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार जी के नेतृत्व में बिहार काफ़ी हद तक अपने सम्मान को वापस पा चुका है और आगे भी ऐसे ही प्रगति पथ पर चलने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं| धन्यवाद

 37 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply