पटना उच्च न्यायालय का आदेश दोषी व्यक्ति की जेब से पांच लाख रुपए जुर्माना वसूल किया जाए

पटना उच्च न्यायालय का आदेश दोषी व्यक्ति की जेब से पांच लाख रुपए जुर्माना वसूल किया जाए
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

दरभंगा संवाददाता

माननीय पटना उच्च न्यायालय ने ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय एवं दूरस्थ शिक्षा निदेशालय बनाम एन सी टी ई , के एक मामले वाद संख्या सी डब्ल्यू जे सी नंबर 9421/2020 की सुनवाई के उपरांत दिनांक 22-01-2021 को निर्गत आदेश जिसमें ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय को निर्देश दिया गया था कि लापरवाही बरतने एवं गैर जिम्मेदाराना कार्य किए जाने के एवज में दोषी व्यक्ति की जेब से पांच लाख रुपए जुर्माना वसूल किए जाएं को खारिज कर दिया है। न्यायालय ने दिनांक 18-02-2021 को उक्त मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया की एनसीटीई ने विश्वविद्यालय को अतिरिक्त सीटों यानी कुल 100 सीटों की स्वीकृति प्रदान कर दी है तथा सी ई टी -बी एड नोडल पदाधिकारी ने भी उन सीटों पर नामांकन हेतु सिफारिश कर दी है तो इसके अलावा आगे कुछ नहीं बचता है अतः मामले का निस्तारण किया जाता है । न्यायाधीश माननीय ए अमानुल्लाह ने कहा कि न्यायालय इस बात का निरीक्षण करती रहेगी कि याचिकाकर्ता विश्वविद्यालय इस कोर्स को चलाने हेतु सभी मानकों एवं पैरामीटरों का अनुपालन कर रही है या नहीं।

 77 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply