जिले में शिक्षा को सुदृढ़ बनाने के लिए खोजो पढाओ अभियान की होगी शुरुआत:- उपायुक्त

जिले में शिक्षा को सुदृढ़ बनाने के लिए खोजो पढाओ अभियान की होगी शुरुआत:- उपायुक्त
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

सिमडेगा : जिला शिक्षा विभाग अन्तर्गत विद्यालय की भौतिक स्थिति, विद्यालयों में शिक्षा पद्धति की स्थिति, डिजिटल शिक्षा व्यवस्था, मूलभूत सुविधाओं की स्थिति, प्राप्त आवंटन अन्तर्गत व्यय की स्थिति सहित जिले में शिक्षा को ओर बेहतर बनाने से संबंधित बैठक उपायुक्त सुशांत गौरव की अध्यक्षता में की गई समाहरणालय सभागार में गुरुवार को आयोजित बैठक को संबोधित करते हैं सुशांत गौरव ने कहा कि प्रत्येक बच्चे का विद्यालय में नामांकन एवं शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने की दिशा में जिले में खोजो पढ़ाओ अभियान की शुरूआत की जाएगी। सभी विद्यालयों का कक्षावार बच्चों की सूची तैयार करें। कक्षा उर्त्तीण करने के उपरांत जो बच्चे अगली कक्षा में नामांकन नहीं करायें है, उस गैप की समीक्षा करें। शिक्षक सूची अनुसार उस बच्चे एवं अभिभावक से मिलकर बच्चे को विद्यालय में नामांकन करायें। कोई भी बच्चा शिक्षा से वंचित न हो। शिक्षक गुरू बनकर विद्यालय के बच्चों को शिक्षा के प्रति रूझान एवं हर घर के बच्चे को विद्यालय से जोड़ शिक्षक गुरू की भांती उनके उज्जव्ल भविष्य की शिक्षा दें। जो बच्चे छुटे हुये है, उनका नामाकंन कराते हुए आगामी परीक्षा में शामिल करने का निर्देश दिया। परीक्षाफल देख बच्चों में शिक्षा के प्रति रूचि बढ़ेगी। उनमें शिक्षा के प्रति परिवर्तन देखने को मिलेगा।
गौरव ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथा बच्चों को मानसिक एवं शरीरिक रूप से भी स्वस्थ रहना जरूरी हैं। एनिमिया मुक्त भारत अभियान के तहत् सभी विद्यालयों के बच्चों का एनिमिया टेस्ट करायें। एनिमिया टेस्ट से बच्चे के मानसिक एवं शरीरिक विकास की स्थिति को देख दवा या सीरफ पिलायें। शिक्षक बच्चों के अभिभावक को बच्चे को दिये जाने वाले पोष्टिक आहार के बारे में जानकारी दें। एनिमिया किसी भी महिला, पुरूष को हो सकता है। आंकड़ों के अनुसार सिमडेगा जिला में एनिमिया बिमारी की संख्या अधिक है। सभी को पोष्टिक आहार का सेवन आवश्यक है।
उपायुक्त ने विद्यालय संचालन व्यवस्था हेतु दी गई राशि की वस्तु स्थिति के बारे में जानकारी प्राप्त की। उपायुक्त ने कहा कि विद्यालयों में दी गई राशि का विद्यालय संचालन किये गए कार्यों के लंबित विपत्र की राशी का निकासी सुनिश्चित करते हुए शेष राशि का उपयोगिता 31 मार्च 2021 तक शतप्रतिशत सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। प्रखण्ड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी को बैठक करने का निर्देश दिया। विद्यालय वार जहां-जहां कमी है, उसका निराकरण सुनिश्चित कराते हुए शिक्षा व्यवस्था को चुस्त एवं दुरूस्त करने का निर्देश दिया। कस्तूरबा गांधी विद्यालय की बैठक कर विद्यालय के बाल सांसद, बच्चों के अभिभावक से पुछे कि विद्यालय में ओर किन-किन कार्यों की आवश्यकता है। कार्य के अनुरूप सूची तैयार करलें। जिला स्तर से भी शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने की दिशा में प्लान तैयार किया गया है। उस बैठक में चर्चा करें। कार्यों की सूची के अनुसार फरवरी माह के अन्त तक कार्यों को पूर्ण कराने का निर्देश दिया। सभी विद्यालयों में हेल्थ, हाईजीन एवं स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान देने की बात कही। इसके अलावे उन्होने अन्य कार्यों की समीक्षा करते हुए महत्पूर्ण दिशा-निर्देश दियें।
बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी, प्रखण्ड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी, एडीपीओ, एपीओ, बीपीओ उपस्थित थे।

 97 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply