कोरोना से बचना है तो सावधानी अवश्यक : सिविल सर्जन

कोरोना से बचना है तो सावधानी अवश्यक : सिविल सर्जन
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
Untitled-1
WhatsApp Image 2021-03-05 at 1.52.50 PM

मोतिहारी

-टीकाकरण के बाद भी मास्क लगायें व भीड़ में जाने से बचें: डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह

कोरोना टीकाकरण में पूर्वी चम्पारण अग्रिम भूमिका निभा रहा है। यहां पुरुषों की तुलना में महिला स्वास्थ्यकर्मी टीकाकरण के प्रति सजग एवम उत्साहित दिखाई दे रही हैं। लेकिन वर्तमान में देश में कोरोना के मामलों का बढ़ना यह बता रहा है कि लोग लापरवाही बरत रहे हैं। जब तक देश के आम जनता को भी कोविड19 टीका न लग जाए सभी को कड़ी सावधानी बरतनी होगी। यह बातें सिविल सर्जन डॉ अखिलेश्वर प्रसाद सिंह ने कही। डॉ सिंह ने स्वास्थ्य कर्मियों से अपील किया कि टीका लेने में आगे आयें तभी रहेंगे सुरक्षित। सदर अस्पताल सहित अन्य 30 केंद्रों पर टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराई गई है| जहां स्वास्थ्यकर्मी के साथ प्रशासनिक अधिकारी टीका लेकर सुरक्षित हो रहे हैं। टीकाकरण के प्रमुख केन्दों में रहमानिया नर्सिंग होम, शरण नर्सिंग होम के अलावे 27 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शामिल है| जहां स्वास्थ्यकर्मियों के साथ सरकारी कर्मियों के लिए टीकाकरण की सुविधाएं उपलब्ध हैं ।

टीका लेकर जिम्मेदारी का निर्वहन किया
पूर्वी चंपारण के जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, सहित, शहर के डॉ सी बी सिंह, डॉ चंद्र सुभाष, डॉ मंजुला नाथ, डॉ हेना चंद्रा, मोतिहारी पीएचसी पर स्वास्थ्य प्रबंधक संध्या कुमारी, डॉ खालिद अख्तर, डॉ विनय कुमार, डॉ शिल्पी श्रीवास्तव, टीका कर्मी मंजू कुमारी, रजनीगंधा,विनीता देवी, बबीता देवी,रवि कुमार, मनोज राम, डॉ उमर तबरेज, अजीज, इकराम आलम, डॉ आकांक्षा,एएनएम रंजना समेत कई स्वास्थ्य कर्मियों ने सिविल सर्जन, डीआईओ की निगरानी में टीका लेकर जिम्मेदार नागरिक होने का गौरव हासिल किया है।

स्वास्थ्यकर्मियों में काफी उत्साह
सिविल सर्जन ने बताया कि टीका के प्रति स्वास्थ्यकर्मियों में काफी उत्साह है। टीकाकरण में किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं मिल रही है।कोविड19 के टीकाकरण के बारे में किसी तरह के अफवाह पर ध्यान नहीं दें और विश्वास रखें कि कोरोना महामारी को भी हमलोग हरा देंगे। हमलोगों को आगे बढ़कर जिम्मेदारी निभानी होगी। टीकाकरण से ना सिर्फ आप, बल्कि दूसरे लोग भी सुरक्षित हो जाएंगे। सरकार ने काफी विचार के बाद पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीका देने का निर्णय लिया है। क्योंकि जब तक स्वास्थ्यकर्मी सुरक्षित नहीं रहेंगे तब तक देश के लोगों की सुरक्षा सम्भव नहीं है।

 

 

टीका लेकर परिवार-समाज को सुरक्षित किया
लैब टेक्नीशियन जगदीश पासवान ने कहा कि कोरोना का टीका पूरी तरह से सुरक्षित है। मैने कोरोना का टीका लेकर खुद के साथ अपने परिवार और समाज को सुरक्षित करने का काम किया है। जब तक हम सुरक्षित नहीं होंगे परिवार, समाज और देश को सुरक्षित नहीं कर सकते हैं। डीआईओ डॉ शरद चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा टीका लेने में किसी तरह का संकोच नहीं करें। यह पूरी तरह सुरक्षित है। मैंने कोरोना का टीका लेकर अपनी जिम्मेदारी निभाई है। आप भी इस अभियान से जुड़ें और टीका लेने के लिए आगे आयें ।

28 दिन के बाद दूसरा डोज आवश्यक
पहले चरण के टीकाकरण के बाद 28 दिन के बाद कोरोना टीका का दूसरा डोज दिया जा रहा है। दूसरे डोज का टीका भी आवश्य लगवाएं । टीकाकरण के 45 दिन बाद शरीर में ऐंटीबॉडी का निर्माण हो जाता है। फिर भी सावधानी बरतने में किसी तरह की कोताही न बरतें।

अफवाहों पर नहीं दें ध्यान
डीसीएम नन्दन झा ने कहा कि अफवाहों पर लोगों को ध्यान नहीं देना चाहिए। समाज में कुछ नकारात्मक लोग होते हैं जो हर अच्छी चीजों का विरोध करते हैं। सोशल साइट्स पर ऐसे लोग ज्यादा सक्रिय होते हैं। इन लोगों के झांसे में आने की जरूरत नहीं है। हमलोग टीकाकरण में शामिल होकर समाज को कोरोना से मुक्त बनाएंगे। देश के इतने बड़े अभियान को हमलोग अपनी भूमिका निभाकर सफल बनाएंगे।

टीकाकरण के बाद भी इन नियमों का पालन जरूरी
• मास्क का इस्तेमाल
• नियमित साबुन पानी से हाथ धोना
• हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल
• 6 फीट की शारीरिक दूरी रखने का पालन करें ।

 36 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply