मुख्यमंत्री ने विज्ञान एवं प्रावैधिकी, समाज कल्याण, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण तथा उत्पाद एवं निबंधन विभाग की समीक्षा की

मुख्यमंत्री ने विज्ञान एवं प्रावैधिकी, समाज कल्याण, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण तथा उत्पाद एवं निबंधन विभाग की समीक्षा की
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

पटना
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज चार विभागों की समीक्षा बैठक कीl उन्होंने शराब के अवैध धंधे में लगे लोगों के खिलाफ क्या कार्रवाई हुई या कितने लोगों को सजा मिलीl इसकी सूचना प्रचारित- प्रसारित करने का निर्देश दिया, ताकि गड़बड़ी करने वालों में भय उत्पन्न हो।

मुख्यमंत्री ने खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की समीक्षा बैठक में निर्देश दिया कि राशन कार्ड के योग्य जो भी लाभुक अब तक इससे वंचित रह गए हैंl उन्हें जल्द से जल्द राशन कार्ड निर्गत किए जाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएl समीक्षा के दौरान यह बात भी सामने आई कि राशन कार्ड मैनेजमेंट सिस्टम पूरी तरह से ऑनलाइन हो जाने के कारण पूरी व्यवस्था में पारदर्शिता आई है और वन नेशन वन राशन कार्ड अपनाने वाला बिहार पहला राज्य बन गया है।
समाज कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक मैं इस बात पर प्रसन्नता एवं संतोष व्यक्त किया गया कि बाल गृहों में चाइल्ड प्रोटेक्शन मैनेजमेंट इनफॉरमेशन सिस्टम वह होम मैनेजमेंट इनफॉरमेशन सिस्टम लागू करने के लिए सर्वोच्च न्यायालय ने बिहार की राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा की हैl बिहार मॉडल को पूरे देश में लागू करने के लिए राज्य से सहायता मांगी गई हैl अर्ली चाइल्डहुड केयर एंड एजुकेशन तथा कोरोना संक्रमण में आंगनबाड़ी सेविकाओं के उल्लेखनीय योगदान के लिए आईसीडीएस बिहार को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कृत किया गया हैl मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना के बिहार मॉडल को केंद्र सरकार ने भी अपनायाl मुख्यमंत्री ने पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि समाज कल्याण के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं को आमजन तक पहुंचाया जाए, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग उसका लाभ उठा सकें।
मुख्यमंत्री ने विज्ञान एवं प्रावैधिकी विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान निर्देश दिया कि तकनीकी संस्थानों में अध्यापन के लिए क्वालिफाइड फैकल्टी की व्यवस्था ही रखें ताकि छात्रों को उच्च गुणवत्ता की शिक्षा मिलेl साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि यहां पढ़ने वाले छात्रों के बेहतर प्लेसमेंट की व्यवस्था भी की जाएl तकनीकी संस्थानों के लिए बन रहे नए भवनों के निर्माण के साथ ही उनके मेंटेनेंस की भी अच्छी व्यवस्था सुनिश्चित की जाएl मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के इंजीनियरिंग कॉलेजों को राज्य में स्थापित आईआईटी, एनआईटी, आईआईआईटी तथा राज्य के बाहर के भी उच्च तकनीकी संस्थानों से संबंध करें ताकि उनकी गुणवत्ता और अधिक बढ़ाई जा सके।
इन बैठकों में विज्ञान एवं प्राविधि की मंत्री सुमित कुमार सिंह, समाज कल्याण मंत्री मदन साहनी, खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्रीमती लेसी सिंह, मद्यनिषेध, उत्पाद एवं निबंधन मंत्री सुनील कुमार, बिहार के मुख्य सचिव दीपक कुमार, अपर मुख्य सचिव अमीर सुभानी, समाज कल्याण विभाग की अपर मुख्य सचिव अतुल प्रसाद, महिला विकास निगम की निदेशक श्रीमती हरजोत कौर, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव मनीष कुमार वर्मा एवं अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी गोपाल सिंह सहित अन्य वरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

 118 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply