सीएम नीतीश कुमार बड़े भाई बनने की कर रहे है जुगाड़

सीएम नीतीश कुमार बड़े भाई बनने की कर रहे है जुगाड़
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

पटना

पटना:–2020 के विधानसभा चुनाव के बाद तो बहुत कुछ बदल गया हैंवहीँ नीतीश कुमार की उनकी पार्टी जेडीयू 43 सीटों के साथ छोटे भाई की भूमिका मे हैं और बीजेपी 74 सीटों के साथ बड़े भाई की भूमिका में। जाहिर तौर पर 73 और 43 के बीच जो फासला होता है और सियासत में इस फासले का जो नुकसान होता है वो नीतीश कुमार बखूबी झेल भी रहे हैं।

वह जल्द से जल्द इस टीस से शायद मुक्ति पा लेना चाहते हैं। इसी कड़ी में उन्होंने एक बड़ी सियासी चाल चल दी है। नीतीश की नजर लोजपा के सांसदों और वाम दल के विधायकों पर है।चिराग के सांसद चंदन सिंह उनसे मुलाकात भी कर चुके हैं। अगर लोजपा के 6 सांसदों में से 4 सांसद नीतीश के पाले में आ जाते हैं तो नीतीश बिहार में सांसदों के मामले में कम से कम बीजेपी के बड़े भाई की भूमिका में होंगे। 2019 के लोकसभा चुनाव में जेडीयू और बीजेपी ने 17-17 सीटों पर चुनाव लड़ा था।
वही लोजपा 6 सीटों पर चुनाव लड़ी थी। बीजेपी और लोजपा ने अपनी सारी सीटें जीत ली थी लेकिन जेडीयू एक सीट किशनगंज की हार गयी थी। मौजूदा वक्त में नीतीश के पास 16 सांसद हैं, बीजेपी के पास 17 सांसद हैं और लोजपा के पास 6 सांसद हैं। अंदखाने की खबर भी यही है कि एलजेपी के सांसदों को पाले में लाने का खेल शुरू हो गया है और नीतीश की यह सियासी चाल कामयाब होती है तो बिहार में जेडीयू के कुल 20 सांसद होंगे और तब जाहिर तौर पर नीतीश कुमार बीजेपी के बड़े भाई की भूमिका में होंगे।

 123 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply