सहरसा जिला के छः टीकाकरण केंद्रों पर स्वास्थ्यकर्मियों को दिया गया कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज

सहरसा जिला के छः टीकाकरण केंद्रों पर स्वास्थ्यकर्मियों को दिया गया कोरोना वैक्सीन का दूसरा डोज
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

सुभाष चन्द्र झा
जिला प्रभारी
फ्रंटलाइन 24
सहरसा

सोमवार को कोरोना का पहला टीका ले चुके स्वास्थ्यकर्मियों को दूसरा डोज लगाया गया। सुबह 10 बजे जिले के 6 टीकाकरण केंद्रों पर इसकी शुरुआत की गई। जिले में 16 जनवरी को जिन 6 केंद्रों पर कोविड वैक्सीन के पहले डोज का टीकाकरण प्रारंभ किया गया था उन्हीं केंद्रों पर दूसरा डोज देने का कार्य किया जा रहा है । 16 जनवरी से शुरू हुए इस टीकाकरण महाअभियान में वर्तमान तक लोगों को सिर्फ पहला डोज ही लगा था। दूसरा डोज 28 दिन बाद लगाया जा रहा है ।कोविड टीकाकरण के लिए जिले में अबतक पंजीकृत 10,764 के विरुद्ध करीब 8 हजार से अधिक स्वास्थ्यकर्मी व फ्रंटलाइन वर्कर्स को कोविड वैक्सीन का पहला डोज लगाया जा चुका है। जिले के सिविल सर्जन डा. अवधेश कुमार ने कहा कि कोविड का टीका कितना सुरक्षित है लोगों को अब यह बताने की जरूरत नहीं है।
वैक्सीन के दूसरे डोज के लिए क्या है भारत सरकार का गाइडलाइन
सिविल सर्जन डॉ अवधेश कुमार ने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने वैक्सीनेशन शुरू करने से पहले दिशा निर्देश जारी किए थे। इसमें कहा था कि दो डोज में 28 दिन का अंतर रहेगा। जिस वैक्सीन का पहला डोज दिया है, उसका ही दूसरा डोज भी दिया जाएगा। यानी अगर पहला डोज कोविशील्ड का लगा है तो दूसरा भी उसका ही होगा। दूसरे डोज के 14 दिन बाद ही वैक्सीन का असर शुरू होगा।

जरूरी है कोविड टीका का दोनों डोज लेना
वैक्सीन एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोरोना के खिलाफ ज्यादातर वैक्सीन दो डोज को ध्यान रखते हुए ही डिजाइन की गई है हैं। पहला डोज आपके शरीर को ट्रेन करता है कि वह वायरस के हमले को कैसे पहचाने? साथ ही इम्यून सिस्टम को तैयार करे। यह इम्यून सिस्टम ही बीमारियों के खिलाफ शरीर का डिफेंस सिस्टम होता है। दूसरे डोज को बूस्टर शॉट कहते हैं। यह इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है। इस वजह से दोनों डोज लेना जरूरी है।
टीकाकरण सत्र स्थल पर आधार दिखाना हुआ अनिवार्य –
सिविल सर्जन डॉक्टर. अवधेश कुमार ने कहा स्वास्थ्यकर्मियों को टीकाकरण के लिए सत्र स्थलों पर आधार कार्ड साथ लाना जरूरी है। विभाग की ओर से यह निर्देश दिया गया है कि लाभार्थियों के आधार कार्ड देखने के बाद टीकाकरण किया जाए। बताया संक्रमण के इस दौर में जिंदगी की रक्षा के लिए टीकाकरण कराना बहुत आवश्यक है। इससे हम खुद व आसपास के लोगों से को वायरस से सुरक्षित कर सकते हैं।

– इन मानकों का रखें ख्याल, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :-
– दो गज की शारीरिक दूरी का हमेशा ख्याल रखें।
– मास्क का नियमित रूप से उपयोग करें।
– साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें।
– बाहरी खाना खाने से परहेज करें।
– घर से बाहर निकलने पर निश्चित रूप से सैनिटाइजर साथ रखें।
– भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।

 42 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply