15 और नियोजित शिक्षकों का प्रमाण पत्र मिला संदिग्ध

15 और नियोजित शिक्षकों का प्रमाण पत्र मिला संदिग्ध
WhatsApp Image 2021-01-08 at 15.08.21
WhatsApp Image 2021-01-17 at 13.22.37
tall copy
WhatsApp Image 2021-01-26 at 12.25.37
Untitled-1

शेखपुरा

जिले के सरकारी स्कूलों में नियोजित 15 और शिक्षको का प्रमाण पत्र संदिघ्द पाया गया है। निगरानी अन्वेषण के समक्ष भेजे गए फोल्डर में इन सभी के प्रमाण पत्र पढने योग्य नहीं पाए गए। निगरानी अन्वेषण व्यूरो ने शिक्षा विभाग से इन सभी के प्रमाण पत्र फिर से भेजने को कहा है। अन्वेषण व्यूरो की मांग पर शिक्षा विभाग ने इन सभी 15 शिक्षको को दो दिन के अंदर शैक्षणिक प्रमाण पत्र स्वयं सत्यापित कर जमा करने को कहा है। इसके पूर्व भी जिले के 21 शिक्षको का प्रमाण पत्र निगरानी अन्वेषण व्यूरो ने मांग की थी। सरकारी सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रमाण पत्र जमा करने के आदेश के दायरे में नगर परिषद शेखपुरा के शिक्षक अरुण कुमार, शेखोपुरसराय के कृष्णापुरी विधालय के सुषमा कुमारी, दारोगिबिघा विधालय के पुष्पा कुमार, अरियरी प्रखंड के गंगापुर के रमाकांत कुमार, वरुणा के ममता कुमारी और पुष्पा कुमारी, ईटहरा के निर्मला कुमारी और भूषण प्रसाद, डीहा के अनीता कुमारी और महुली के श्याम किशोर मंडल, चेवाडा के भुषडी के शम्भू यादव, वंशीपुर के निर्मला कुमारी, छठीयारा के राकेश कुमार यादव और लहना विधालय के कंचन कुमारी का नाम शामिल है। यहाँ स्थानीय स्तर पर शिक्षा वभाग द्वारा प्रमाण पत्र जारी करने के आदेश के बाद फर्जी प्रमाण पत्र के आधार पर बहाल शिक्षको में हडकंप मच गया है।

 24 total views,  1 views today

shyam ji

shyam ji

Leave a Reply